उन्नाव रेप केस की सुनवाई के लिए एम्‍स में लगा अस्‍थाई कोर्ट, थोड़ी देर में पीड़‍िता की होगी गवाही

पीड़िता के बयान दर्ज करने की प्रक्रिया बंद कमरे में होगी. इस दौरान किसी भी प्रकार की ऑडियो-वीडियो रिकॉर्डिंग की मनाही होगी. इसके लिए कोर्ट ने एम्स प्रशासन को निर्देश दिए हैं. वहीं सुनवाई के दौरान सेमिनार हॉल में लगे सीसीटीवी कैमरे भी बंद रहेंगे.

नई दिल्ली. उन्‍नाव रेप पीड़‍िता (Unnao Rape Survivor) मामले की सुनवाई के लिए दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान यानी एम्स (AIIMS) के ट्रामा सेंटर में फास्‍ट ट्रैक कोर्ट लगाया गया है. दिल्‍ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) की अधिसूचना और अस्‍थाई कोर्ट लगाने की अनुमति के बाद यहां कोर्ट लगाई गई है. बुधवार से यहां लगाए गए अस्थाई कोर्ट में उन्नाव रेप पीड़‍िता की गवाही कराई जानी है. सुबह 11 बजे सुनवाई के लिए एम्स में ट्रायल कोर्ट के जज पहुंचे हैं.

बता दें कि उन्नाव रेप मामले में पीड़‍िता का एम्‍स में इलाज चल रहा है. दो दिन पहले दिल्‍ली हाईकोर्ट के आदेश के बाद एम्‍स में अस्‍थाई अदालत लगाने की प्रक्रिया चल रही है. एम्स के जय प्रकाश नारायण एपेक्स ट्रॉमा सेंटर की पहली मंजिल पर सेमिनार हॉल में यह कोर्ट बनाया जाएगा. जहां 11 सितंबर को सुबह 11 बजे से पीड़िता के बयान दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी.

एम्‍स के ट्रामा सेंटर में लगे अस्‍थाई कोर्ट में आज से उन्‍नाव रेप पीड़‍िता की होगी गवाही.
एम्‍स के ट्रामा सेंटर में लगाए गए अस्‍थाई कोर्ट में उन्‍नाव रेप केस की सुनवाई के दौरान 

बंद कमरे में दर्ज होंगे पीड़‍िता के बयान
उन्नाव रेप पीड़िता के बयान दर्ज करने की प्रक्रिया बंद कमरे में होगी. इस दौरान किसी भी प्रकार की ऑडियो-वीडियो रिकॉर्डिंग की मनाही होगी. इसके लिए कोर्ट ने एम्स प्रशासन को निर्देश दिए हैं. वहीं सुनवाई के दौरान सेमिनार हॉल में लगे सीसीटीवी कैमरे भी बंद रहेंगे. इस दौरान पीड़ि‍ता और आरोपी का आमना-सामना न हो, इसकी भी व्‍यवस्‍था की गई है.

ये है पूरा मामला
उन्नाव जिले के बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़‍िता की कार को बीते 28 जुलाई को रायबरेली से उन्नाव लौटते वक्त सामने से आ रहे ट्रक ने जोरदार टक्कर मार दी थी. इस हादसे में पीड़ित लड़की की दो महिला संबंधियों की मौके पर ही मौत हो गई थी. जबकि वो और उसके वकील गंभीर रूप से घायल हो गये थे.

इस कार में रेप पीड़िता अपने रिश्तेदारों और वकील के साथ रायबरेली से उन्नाव लौट रही थी जब उनकी गाड़ी को सामने से आ रहे ट्रक ने जोरदार टक्कर मार दी थी

वहीं उन्नाव रेप केस के आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर पर कानून का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है. दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट ने उन्नाव रेप केस की पीड़िता के पिता की हत्या के मामले में कुलदीप सेंगर को आरोपी बनाया है. हाल ही में दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में सुनवाई के दौरान कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि पीड़िता के पिता को मारा गया. कोर्ट ने कहा कि ये पूरा षडयंत्र सिर्फ इसलिए रचा गया ताकि पीड़िता इस मामले में अपनी शिकायत दर्ज न कर पाए.

शेयर करें

कोई जवाब दें