Howdy Modi इवेंट में शामिल होंगे डोनाल्ड ट्रंप, पीएम मोदी ने जताई खुशी

22 सितंबर को ह्यूस्टन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi) भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे. इस कार्यक्रम में 50 हजार से ज्यादा लोगों के मौजूदगी की संभावना है. Howdy Modi नाम के इस कार्यक्रम में पहले से ही ट्रंप के शामिल होने की संभावना जताई जा रही थी.

वाशिंगटन/ नई दिल्ली. अमेरिका (America) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi) के कार्यक्रम ‘Howdy Modi’ में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (donald trump) भी शामिल होंगे. इस खबर पर अब व्हाइट हाउस में भी अपनी मुहर लगा दी है. बता दें कि 22 सितंबर को ह्यूस्टन में मोदी भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे. इस कार्यक्रम में 50 हजार से ज्यादा लोगों के मौजूदगी की संभावना है.

वहीं व्हाइट हाउस की तरफ से इस पुष्टी के बाद पीएम मोदी ने कहा, ‘अमेरिकी राष्ट्रपति का यह विशेष कदम भारत और अमेरिका के बीच की खास दोस्ती को दर्शाता है. मुझे खुशी है कि राष्ट्रपति ट्रंप 22 सितंबर को होने वाले कार्यक्रम में शामिल होंगे.’

इसके साथ ही एक अन्य ट्वीट में पीएम मोदी ने कहा, ‘ह्यूस्टन में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के शरीक होने का फैसला अमेरिकी समाज और अर्थव्यवस्था में भारतीय समुदाय के योगदान और दोनों समुदायों के बीच रिश्तों की मजबूती को दर्शाता है.’

इतिहास में पहली बार
ऐसा पहली बार होगा कि जब अमेरिका को कोई राष्ट्रपति, भारत के प्रधानमंत्री के साथ एक ही मंच पर हजारों इंडो-अमेरिकन नागरिकों को संबोधित करेगा. अमेरिका में भारतीय राजदूत हर्ष वर्धन सिंघल ने इस इवेंट को ऐतिहासिक और अभूतपूर्व बताया है. ‘हाउडी’ शब्द अंग्रेजी के ‘हाउ डू यू डू’ की शॉर्ट फॉर्म है. साउथ वेस्ट यूएस में यह शब्द काफी चलता है.

इस कार्यक्रम का आयोजन ह्यूस्टन स्थित गैर-लाभकारी संस्था टेक्सास इंडिया फोरम (TIF) करा रही है. पीएम मोदी का ये कार्यक्रम एनआरजी स्टेडियाम में किया जाएगा. प्रधानमंत्री मोदी को सुनने के लिए इस स्टेडियम में 50 हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई थी. अब तक सभी सीटें फुल हो चुकी हैं. अब जो भी लोग पीएम मोदी को सुनने के लिए रजिस्ट्रेशन कर रहे हैं उन्हें वेटिंग लिस्ट में शामिल किया जा रहा है.

Prime Minister Narendra Modi, India, America, Howdy Modi, United Nations General Assembly,donald trump
प्रधानमंत्री मोदी को सुनने के लिए इस स्टेडियम में 50 हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई थी.

ह्युस्टन में 1 लाख 30 हजार से ज्यादा भारतीय-अमेरिकी रहते हैं
यूनिवर्सिटी के छात्रों के लिए रजिस्ट्रेशन 29 अगस्त तक स्पेशल एलॉटमेंट क रूप में खुले हैं. यहां पर पीएम मोदी मुख्य व्यवसायी, राजनीतिक और सामुदायिक नेताओं से मिलेंगे. आपको बता दें कि ह्युस्टन में करीब 1 लाख 30 हजार से ज्यादा भारतीय-अमेरिकी रहते हैं. बताया जा रहा है कि उत्तर अमेरिका में किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री को सुनने के लिए यह अब तक की सबसे बड़ी लाइव ऑडियंस होगी. अगर पूरे अमेरिका की बात करें तो पोप फ्रांसिस के बाद किसी भी विदेशी नेता को सुनने के लिए भी ये अबतक की सबसे ज्यादा लाइव ऑडियंस होगी.

शेयर करें

कोई जवाब दें