CM बनने वाले पहले IITian थे पर्रिकर, पढ़ें उनसे जुड़ा सबसे चर्चित किस्सा

वह देश के उन चुनिंदा राजनेताओं में से एक थे जिन्हें देश का युवा अपने रोल मॉडल के रूप में देखता है. पर्रिकर की सादगी को लेकर कई किस्से चर्चित हैं.

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का रविवार को 63 साल की उम्र में निधन हो गया. पर्रिकर गोवा ही नहीं देश के सबसे चहेते नेताओं में से एक थे. उनकी सादगी और ईमानदारी के लिए सिर्फ बीजेपी ही नहीं विपक्षी पार्टियों के नेता भी उनका सम्मान करते थे. वह विधायक के तौर पर चुने जाने और देश के किसी राज्य के मुख्यमंत्री बनने वाले पहले IITian थे.

वह देश के उन चुनिंदा राजनेताओं में से एक थे जिन्हें देश का युवा अपने रोल मॉडल के रूप में देखता है. पर्रिकर की सादगी को लेकर कई किस्से चर्चित हैं.

बता दें कि मुख्यमंत्री के तौर पर अपने पिछले कार्यकाल के दौरान पर्रिकर गोवा में स्कूटर से घूमा करते थे. इसी को लेकर एक किस्सा वॉट्सऐप और अन्य मैसेजिंग प्लेटफॉर्म्स पर जोक के रूप में शेयर किया जाता है. कुछ लोगों का मानना है कि यह सच में हुई घटना है, वहीं कुछ लोगों का कहना है कि युवाओं को ट्रैफिक नियमों को लेकर जागरूक करने के लिए यह मैसेज बनाया गया था.

वह किस्सा कुछ ऐसा हैः
एक बार एक बड़ी गाड़ी से चल रहा एक लड़का एक हेलमेट पहने स्कूटर चालक से टकरा गया. लड़का अपनी गाड़ी से उतरा और चिल्लाया, ‘देख के नहीं चल सकते क्या?’ इस पर स्कूटर चालक ने कहा, ‘मैं तो सही जा रहा था, आप ही गलत तरीके से गाड़ी चला रहे थे.’ इस पर लड़का और जोर से चिल्लाया, ‘जानता है मेरा बाप कौन है.’ इस पर स्कूटर चालक ने अपनी हेलमेट उतारी और कहा, ‘बेटा, मैं यहां का मुख्यमंत्री हूं.’

हालांकि बाद में उन्होंने स्कूटर चलाना छोड़ दिया था. जनवरी 2018 में एक अखबार से बातचीत में उन्होंने कहा था कि उनके दिमाग में काफी चीज़ें चलती रहती थीं, ऐसे में हादसे की आशंका को देखते हुए उन्होंने स्कूटर चलाना या किसी के साथ स्कूटर पर बैठना छोड़ दिया था.

शेयर करें

कोई जवाब दें