GST लागू होने के एक दिन बाद गोल्ड की डिमांड 75% तक घटी

गोल्ड की कीमतें भी 1 फीसदी नीचे आईं, क्योंकि सात साल के सबसे खराब तिमाही प्रदर्शन के बाद डॉलर में नुकसान घट गया। ऑल इंडिया जेम ऐँड जूलरी ट्रेड फेडरेशन के चेयरमैन नितिन खंडेलवाल ने कहा, ‘कस्टमर्स ने जीएसटी के बाद कीमतों के बढ़ने की आशंका में अपनी खरीदारी पहले ही कर ली थी। इस वजह से स्टोर्स पर फुटफॉल कम हुआ है। हालांकि, जीएसटी से कीमतों पर क्या असर होगा, इस बारे में तस्वीर साफ होने पर फिर से स्टोर्स में ग्राहक आने लगेंगे।’
SHAREसोमवार को साउथ इंडिया में सेल्स में 60 फीसदी की गिरावट आई। देश के 850-950 टन सालाना के गोल्ड कंजम्पशन में दक्षिण भारत की हिस्सेदारी 40 फीसदी है। बेंगलुरु बेस्ड श्री राम जेवेल्स के मालिक श्रीधर जीवी ने कहा कि मार्केट 30 जून तक काफी मजबूत था। उन्होंने कहा, ‘सेल्स में गिरावट 50 से 60 फीसदी तक रही है। हमें 20 दिन बाद बिक्री में फिर से तेजी की उम्मीद है क्योंकि तब वेडिंग सीजन शुरू हो जाएगा। रिपोर्ट्स से यह भी पता चल रहा है कि गोल्ड की रूरल सेल्स में भी गिरावट आई है।’
हालांकि, मुंबई में झावेरी बाजार स्थित इंडियन बुलियन ऐंड जूलर्स असोसिएशन (आईबीजेए) के दफ्तर में बाहर के ज्वैलर्स की कॉल्स की झड़ी लगी रही। आईबीजेए के नेशनल सेक्रेटरी सुरेंद्र मेहता ने कहा, ‘चूंकि, जीएसटी को लेकर काफी कन्फ्यूजन है, ऐसे में दूरदराज के इलाकों के ज्वैलर्स हमारे यहां कॉल कर चीजें समझने की कोशिश कर रहे हैं।’ मेहता ने कहा कि जीएसटी से सेक्टर हेल्दी बनेगा और इससे जूलरी महंगी नहीं होगी। मेहता ने कहा, ‘हमने देखा है कि गोल्ड पर 3 फीसदी जीएसटी 22 रुपये प्रति ग्राम बैठेगा। जूलर्स जीएसटी के मसले को हैंडल करने के लिए तैयार हैं।’

झावेरी बाजार के ज्यादातर जूलर्स को उम्मीद है कि गोल्ड की कीमतें शॉर्ट-टर्म में गिरकर 27,500 रुपये प्रति 10 ग्राम के लेवल पर आ जाएंगी। नाम न जाहिर करने की शर्त पर एक बुलियन डीलर ने कहा, ‘हमें नवरात्र में बिजनस में तेजी आने की उम्मीद है। तब तक हम जीएसटी के नियमों को समझेंगे।’ गोल्ड सोमवार को सात हफ्ते के लो पर पहुंच गया क्योंकि सात साल के सबसे खराब तिमाही प्रदर्शन के बाद डॉलर में नुकसान कम हुआ और 10 साल की अमेरिकी ट्रेजरी यील्ड्स ऊपर चढ़ी। इससे बुलियन को लेकर लोगों में दिलचस्पी कम हुई।

स्पॉट गोल्ड के दाम 0.7 फीसदी घटकर 1,233.16 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गए, जबकि अगस्त डिलीवरी वाला यूएस गोल्ड फ्यूचर्स 8.90 डॉलर प्रति औंस घटकर 1,234.40 डॉलर पर आ गया। गोल्ड को 200-डे मूविंग ऐवरेज चार्ज पर जरूर कुछ सपॉर्ट मिला। यह 50 डॉलर प्रति औंस चढ़कर करीब सात महीने के हाई पर पहुंच गया।

शेयर करें

कोई जवाब दें